गणपति उत्सव में अक्षरा सिंह के गाते ही चलीं कुर्सियां स्टेज शो बीच में छोड़ कर जाना पड़ गया - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

गणपति उत्सव में अक्षरा सिंह के गाते ही चलीं कुर्सियां स्टेज शो बीच में छोड़ कर जाना पड़ गया

#DRS NEWS 24Live
  

जौनपुर में आयोजित गणपति उत्सव के दौरान अक्षरा सिंह के गाने पर बवाल हो गया. लोगों ने खूब कुर्सियां फेंकी. हालात ऐसे बन गए कि 300 से अधिक सुरक्षा गार्ड और तीन थानों की पुलिस फोर्स भी शांति बहाल नहीं कर पायी. आखिर में अक्षरा सिंह को स्टेज शो बीच में छोड़ कर जाना पड़ गया इसी कार्यक्रम में सुनील सेट्टी का लाइव कंसर्ट है
जौनपुर में बवाल हो गया मौका था गणपति उत्सव का और हो रहा था अक्षरा सिंह का स्टेज शो. जैसे ही अक्षरा सिंह ने प्रसिद्ध गाना ‘जान मारे लहंगा ई लखनऊवा…’ गाना शुरू किया, पांडाल में कुर्सियां चलनी शुरू हो गई. लोगों को कंट्रोल करने में तैनात 300 से अधिक बाउंसर और तीन थानों की पुलिस फोर्स भी कुछ नहीं कर पाई. आखिर में अक्षरा सिंह का स्टेज शो रोकना पड़ा. इस कार्यक्रम का आयोजन केराकत क्षेत्र निवासी आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह ने किया था.
जौनपुर में पहली बार आयोजित हुए इस तीन दिवसीय इस गणपति उत्सव में भोजपुरी की अभिनेत्री अक्षरा सिंह के साथ ही हनी सिंह को भी बुलाया गया था. चूंकि पहले से ही संभावना थी कि भारी भीड़ होगी. इस लिए तीन थानों की पुलिस के साथ 300 निजी सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए थे. कार्यक्रम की शुरुआत तो व्यवस्थित तरीके से हुई, लेकिन जैसे ही अक्षरा सिंह स्टेज पर आई, श्रोताओं ने गाना ‘जान मारे लहंगा ई लखनऊवा….की डिमांड की.
अक्षरा ने भी पब्लिक डिमांड का सम्मान करते हुए गाने की प्रस्तुति शुरू की. लेकिन इतने में बवाल शुरू हो गया. देखते ही देखते लोगों ने एक दूसरे पर कुर्सियां फेंकनी शुरू कर दी. एक दूसरे पर लात घूंसे चलने लगे. सुरक्षा कर्मियों ने बीच बचाव की कोशिश की, लेकिन इस दौरान वह भी जख्मी हो गए. स्थिति कंट्रोल से बाहर जाते देख अक्षरा सिंह स्टेज शो बीच में छोड़ कर चली गईं. मौके पर तैनात पुलिस अधिकारियों के मुताबिक सौ से अधिक कुर्सियां टूटी हैं. जबकि दर्जनों लोग घायल हुए हैं इस कार्यक्रम का तीसरा और आखिरी दिन है. इसमें सुनील शेट्टी, अमृता फडणवीस समेत कई कलाकार शिरकत करेंगे. ऐसे में बुधवार की घटना को ध्यान में रखते हुए पुलिस और चौकस इंतजाम किए हैं. बता दें कि आईएएस अभिषेक सिंह इन दिनों अपने गृह नगर में चुनावी जमीन तलाश रहे हैं. इसके लिए वह जौनपुर में खूब समय दे रहे हैं. उनके पिता कृपाशंकर सिंह डीआईजी रह चुके हैं.
संभावना है कि आगामी लोकसभा चुनाव में अभिषेक सिंह अपने पिता या परिवार के किसी सदस्य को चुनाव मैदान में उतारें. गणपति उत्सव का आयोजन भी इसी चुनाव की तैयारियों का हिस्सा माना जा रहा है.इस कार्यक्रम में बवाल की वजह धार्मिंक कार्यक्रम में अश्लील गाने का आयोजन बताया जा रहा है. स्थानीय लोगों के मुताबिक गणेश उत्सव जैसे पवित्र कार्यक्रम में भोजपुरी फूहड़ गाने और डांस से लोग नाराज़ हो गए.

No comments:

Post a Comment