मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित कर लोक अदालत का किया उद्घाटन - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित कर लोक अदालत का किया उद्घाटन

#DRS NEWS 24Live
गाजीपुर:रिपोर्ट मोहम्मद कादिर:राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली से प्राप्त निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गाजीपुर के तत्वाधान में जनपद न्यायालय गाजीपुर में राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ किया गया।
इस अवसर पर संजय कुमार-टप्प्ए जनपद न्यायाधीश द्वारा मॉ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप-प्रज्ज्वलित कर लोक अदालत का उद्घाटन किया गया  लोक अदालत के सफलता हेतु सभी अधिकारियों को अधिक से अधिक निस्तारण हेतु प्रोत्साहित किया गया।
राकेश कुमार.टप्प् नोडल अधिकारी लोक अदालत गाजीपुर एवं  विजय कुमार-प्ट अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सचिव पूर्णकालिक जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गाजीपुर द्वारा राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारण हेतु नियत वादों की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की गयी। इस अवसर पर सचिव ने बताया कि लोक अदालत से न्याय के क्षेत्र में क्रान्ति आई है और लोगो में विधिक जागरूकता भी बढ़ी हैं। उनके द्वारा माननीय जनपद न्यायाधीश के निर्देशानुसार राष्ट्रीय लोक अदालत के प्रचार प्रसार हेतु किये गये प्रयासों के बारे में संक्षेप में जानकारी दी गयी तथा सामान्य अदालत एवं लोक अदालत में अन्तर को विस्तार से बताया गया।
इस अवसर पर संजय कुमार टप्प्ए जनपद न्यायाधीश गाजीपुर राहुल कात्यायन मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण गाजीपुर अखिलेश कुमार पाठक प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय गाजीपुर चन्द्र प्रकाश तिवारी अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कक्ष सं0-01 गाजीपुर मो0 गजाली एस0सी0 एस0टी0 एक्ट गाजीपुर अवध बिहारी सिंह अध्यक्ष स्थाई लोक अदालत गाजीपुर संजय कुमार यादव-प्ए अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कक्ष संख्या-4 गाजीपुर स्वप्न आनंद मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी गाजीपुर एवं दीपेन्द्र कुमार गुप्ता अपर मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी गाजीपुर सुधाकर राय अध्यक्ष सिविल बार एसोसिएशन गाजीपुर व रतन लाल श्रीवास्तव महासचिव सिविल बार एसोसिएशन गाजीपुर व न्यायालय के कर्मचारीगण सम्मलित हुए।
इस राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 112763 मामले निस्तारण हेतु नियत किये गये थे जिसमें से सुलह समझौतें एवं संस्वीकृति के आधार पर कुल 102129 वाद अंतिम रूप से निस्तारित किये गये। राजस्व विभाग के 6691 मामले विभिन्न न्यायालयों द्वारा 18052 मामले तथा बैंक एवं अन्य विभाग द्वारा कुल 77386 मामले निस्तारित किये गये।
प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय गाजीपुर द्वारा 12 वाद निस्तारित किये गये व 02 जोड़ो को साथ साथ भेजा गया तथा न्यायालय मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण द्वारा कुल 50 वाद निस्तारित किये गये व कुल 4280000रू0 की धनराशि के संबंध में आदेश पारित किया गया। जनपद न्यायालय गाजीपुर में फौजदारी मामलों में सबसे अधिक निस्तारण मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी  स्वप्न आनन्द द्वारा किया गया। सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गाजीपुर द्वारा जनपद न्यायालय के कर्मचारीगण अधिवक्तागण मीडियाकर्मी तथा पुलिस एवं प्रशासन विभाग के प्रति अपना धन्यवाद ज्ञापित किया गया।
डीआरएस न्यूज़ नेटवर्क

No comments:

Post a Comment