गैंगरेप पीड़िता के आंसू से नहीं पसीजा दरोगा का दिल पैसे लेकर मुंह बंद करने की दी सलाह - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

गैंगरेप पीड़िता के आंसू से नहीं पसीजा दरोगा का दिल पैसे लेकर मुंह बंद करने की दी सलाह

#DRS NEWS 24Live
गाजियाबाद पुलिस का स्याह चेहरा सामने आया है। यहां एक गैंगरेप पीड़िता जब थाने में अपनी शिकायत लेकर पहुंची तो उसे पैसे लेकर चुप बैठने की सलाह दी गई। दिल्ली निवासी युवती नौकरी की तलाश में गाजियाबाद आई थी। पीड़िता ने आरोप लगाया कि यहां एक स्पा में उसके साथ गैंगरेप किया गया। इस दौरान एक अन्य युवती ने ब्लैकमेल करने के लिए वीडियो बनाई। जब थाने में पीड़िता की फरियाद नहीं सुनी गई तो उसने गाजियाबाद पुलिस कमिश्नर से इस मामले की शिकायत की।
यह है पूरा मामला दिल्ली के मधु विहार आईपी एक्सटेंशन की रहने वाली एक युवती ने इंटरनेट पर नौकरी का विज्ञापन देखा और दिए गए नंबर पर कॉल किया। दूसरी तरफ से बताया गया कि उन्हें नौकरी के लिए गाजियाबाद स्थित जयपुरिया सनराइज प्लाजा मॉल स्थित एप्पल पाई स्पा में आना है। 14 दिसंबर को वह जयपुरिया सनराइज प्लाजा मॉल स्थित एप्पल पाई स्पा पहुंची। युवती ने बताया कि उसे वहां ज्योति नाम की लड़की मिली। वहां उसने बताया कि उसे रिसेप्शन की नौकरी चाहिए। ज्योति ने पीड़िता से कहा कि आप बैठ जाओ, अभी मालिक आने वाले हैं। आपकी नौकरी लग जाएगी। तभी वहां पर साजन, सोनू और रिंकू नाम के व्यक्ति आए। उन्होंने युवती से कहा कि तुम यहीं नौकरी कर लो। हमारे पास बहुत पैसा है। तुम्हें किसी बात की परेशानी नहीं आने देंगे। युवती का आरोप है कि इसके बाद उन्होंने स्पा में आए ग्राहकों से पैसा लेकर युवती का जबरन यौन शोषण करवाया। आरोप है कि साजन, रिंकू और सोनू ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसे ब्लैकमेल करने के लिए घटना का वीडियो ज्योति ने बनाया। उसने बताया कि इसी प्रकार वीडियो बनाकर यहां आने वाली युवतियों को ब्लैकमेल किया जाता है।
थाने में नहीं लिखी गई एफआईआर
पीड़िता ने बताया कि वह शिकायत लेकर नीति खंड चौकी गई। वहां पुलिस वालों ने उसे थाने भेज दिया। थाने में प्रार्थना पत्र दिया था। उसके बाद थाने में उसे रोज सुबह शाम रिपोर्ट दर्ज करने का झांसा देकर बुलाते रहे। परंतु, उसकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। पीड़िता ने आरोप लगाते हुए बताया कि थाने में दरोगा पैसों का लालच देकर चुप बैठने का दबाव बनाता रहा। उसने बताया कि गौरव नाम के सिपाही ने थाने से धमका कर भगा दिया और रिपोर्ट दर्ज नहीं की। उसने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि इंदिरापुरम स्थित स्पा में अवैध देह व्यापार का धंधा करने वाले लोग पुलिस की मिलीभगत से इसे चला रहे हैं। उसने बताया कि इसलिए पुलिस उसकी रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही है। पुलिस कमिश्ररेट ने पीड़िता की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिया है।

No comments:

Post a Comment