जिंदगियों के लिए काल बन सकते हाईवे किनारे खड़े ट्रक - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

जिंदगियों के लिए काल बन सकते हाईवे किनारे खड़े ट्रक

#DRS NEWS 24Live
बहराइच:रिपोर्ट फिरदौस आलम:फखरपुर। हाईवे पर ट्रकों की लंबी कतार देखने को मिल रही है। यह ट्रक कई स्थानों पर हाईवे के दोनों तरफ खड़े दिखते हैं। इससे हाईवे संकरा नजर आता है। ऐसा तब है जब दिसंबर माह की शुरुआत के साथ ही तराई कोहरे की चादर में लिपटने लगी है।सुबह व रात के समय जिला घने कोहरे के आगोश में रहता है। हाईवे पर खड़े ट्रकों को लेकर जिले के हुक्मरान मौन हैं, जो कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकता है।
जिले से आधा दर्जन हाईवे गुजरे हैं, जिनसे प्रतिदिन 10,000 से अधिक छोटे-बड़े वाहन गुजरते हैं। इन दिनों हाईवे किनारे खड़े ट्रक राहगीरों के लिए डर का सबब बने हुए हैं। रात के समय हाईवे से गुजरने वाले राहगीरों की जान हमेशा सांसत में बनी रहती है। उनकी हल्की सी चूक कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकती है। सबसे ज्यादा अव्यवस्था बहराइच-बलरामपुर, बहराइच-भिनगा और बहराइच-लखनऊ हाईवे पर देखने को मिल रही है।
बहराइच-भिनगा मार्ग पर पड़ने वाली आधा दर्जन से अधिक मिलों के बाहर दिन से लेकर रात तक दर्जनों ट्रक हाईवे के किनारे खड़े नजर आते हैं। हाईवे संकरा नजर आता है। बहराइच-बलरामपुर मार्ग पर रात के समय यही स्थित ढाबों के किनारे देखने को मिलती है। बहराइच-बलरामपुर मार्ग पर धरसवां के पास स्थित इन ढाबों के बाहर हाईवे के दोनों तरफ ट्रक खड़े नजर आते हैं, जो हर समय हादसे को दावते देते रहते हैं। ऐसा ही नजारा जिले के प्रमुख राजमार्ग बहराइच-लखनऊ का भी है। जहां बसंतापुर के पास स्थित एफसीआई गोदाम के बाहर मुख्य राजमार्ग पर सैकड़ों ट्रकों की कतार देखने को मिलती है। ऐसा तब है, जब इस मार्ग पर डिवाइडर भी नहीं हैं और राहगीर फर्राटे के साथ गुजरते हैं।
मुख्यमंत्री ने ट्रकों को लेकर दिया था सख्त निर्देश
हाईवे किनारे खड़े हो रहे ट्रकों से टकरा कर प्रदेश में हो रहे हादसों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त निर्देश दिए थे। उन्होंने जिलों के जिम्मदारों को हाईवे किनारे खड़े हो रहे वाहनों के खिलाफ सख्ती बरतने और हाईवे को खाली रखने का आदेश दिया था। बावजूद इसके जिले में लगभग सभी मुख्य हाईवे पर ट्रक खड़े हो रहे हैं।
बोले राहगीर, साइड देते समय सांसत में रहती है जान
छावनी चौराहा निवासी विजय सोनी ने बताया कि अक्सर काम के सिलसिले में लखनऊ जाना होता है। हाईवे किनारे खड़े ट्रकों के चलते सामने से आ रहे बड़े वाहन को साइड देने में हादसे का खतरा बना रहता है। फत्तेपुरा निवासी पंकज मिश्रा ने बताया कि भिनगा जाते समय हाईवे किनारे खड़े ट्रकों के चलते हादसे की आशंका रहती है। इसी मोहल्ले के रहने वाले विशाल सिंह ने बताया कि ट्रकों के चलते कई बार जाम भी लगता है,बावजूद जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे।
कोहरे में बढ़ेंगी मुश्किलें
राहगीर पंकज शुक्ला, दिनेश प्रताप सिंह, विवेक कुमार आदि ने बताया कि गर्मियों में हाईवे किनारे खड़े ट्रक दिख जाते हैं। लेकिन सर्दी की शुरुआत के साथ ही खतरा बढ़ गया है। सर्दियों में कोहरे के दौरान ट्रक न दिखने पर हादसा हो सकता है। जिला प्रशासन को इस पर ध्यान देना चाहिए।
हादसों में कई गंवा चुके हैं जान, जिम्मेदार अंजान
बीते एक सप्ताह के भीतर जिले में हुई विभिन्न दुर्घटनाओं में एक दर्जन से अधिक लोग जान गंवा चुके हैं। अकेले मंगलवार को हादसों में पांच लोगों की मौत हो गई। इसमें मोतीपुर के सर्रामुंदरी निवासी चचेरे भाई जितेन्द्र व रोहित, बाराबंकी के कोतवाली रामनगर के हनुमंतपुर निवासी रोहित सिंह, फखरपुर थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुर निवासी शांति देवी, रामगांव थाना क्षेत्र के लौकाना निवासी जर्नादन वर्मा शामिल रहे।
इसी सप्ताह मंगलवार से पूर्व भी लगभग 12 राहगीर हादसों में जान गंवा चुके हैं। ऐसे में अगर हाईवे किनारे खड़े ट्रकों पर पाबंदी नहीं लगाई गई तो किसी भी समय हादसों का यह आंकड़ा कई गुना बढ़ सकता है। जिम्मेदारों की लापरवाही से कई परिवार तबाह हो सकते हैं।ट्रकों को खड़ा करवाने के लिए स्थान का चिन्हांकन जारी है। जगह चिन्हित होते ही ट्रकों को वहां खड़ा करवाया जाएगा। इसके बाद अगर कोई लापरवाही करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ढाबों के किनारे दोनों साइडों में खड़े ट्रकों को लेकर टीम भेज कर जांच करवाई जाएगी
डीआरएस न्यूज नेटवर्क बहराइच

No comments:

Post a Comment