आजादी के 77 वर्षों के बाद भी अदद एक सड़क के लिए जूझ रहे महादलित टोला गोटीडीह के ग्रामीण - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

आजादी के 77 वर्षों के बाद भी अदद एक सड़क के लिए जूझ रहे महादलित टोला गोटीडीह के ग्रामीण

#DRS NEWS 24Live
बिहार नबीनगर एक ओर बिहार सरकार गांव एवं  टोलों में सड़क का जाल बिछा कर सभी गांव एवं टोलों को मुख्य सड़क से जोड़ने का काम कर रही है वहीं नबीनगर प्रखंड के राजपुर पंचायत के सिंदुरिया टोले गोटीडीह के ग्रामीण अदद एक सड़क के लिए जूझ रहे हैं। आजादी के 77 वर्षों के बाद भी गोटीडीह गांव में सड़क का निर्माण नहीं हुआ।इस साइबर युग में भी लोगों को आज भी पगडंडी के सहारे गांव में जाना पड़ता है।ग्रामीण भारत,टुन्नु कुमार,महादेव प्रसाद,भोला प्रसाद मुरारी प्रसाद,राजेंद्र कुमार,पप्पू कुमार ने बताया सिंदुरिया गोटीडीह गांव नबीनगर चरण मुख्य पथ से एक किलोमीटर की दूरी पर है। वही पंचायत के साया गांव में जाने के लिए एक मात्र कच्ची सड़क है वह भी टूटी फुटी हुई है।सड़क नहीं होने के कारण सबसे अधिक समस्या बरसात के दिनों में होती है।गांव में अगर कोई बीमार पड़ जाता है तो उसे चारपाई के सहारे गांव से बाहर निकाल कर मुख्य सड़क पर लाया जाता है।सड़क नहीं होने से स्कूली बच्चों,महिलाओं और रोगी को समय पर अस्पताल पहुंचने में बहुत ही समास्या होती है।ग्रामीणो ने बताया कि सड़क निर्माण के लिए कई बार क्षेत्रीय सांसद,विधायक एवं स्थानीय मुखिया से गुहार लगाइए लेकिन अभी तक सड़क निर्माण पर किसी भी अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि के द्वारा पहल नहीं किया गया है।

No comments:

Post a Comment