भागवत कथा सुनने से ही होता है जीव का कल्याण :- कथा वाचक अनिल शास्त्री - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

भागवत कथा सुनने से ही होता है जीव का कल्याण :- कथा वाचक अनिल शास्त्री

#DRS NEWS 24Live
बिहार श्री गो गीता गायत्री सत्संग सेवा समिति सेवा के तत्वावधान में नबीनगर मारवाड़ी धर्मशाला में शुरू हुए संगीतमय  श्रीमद्भागवत महापुराण कथा के तृतीय दिवस पर संस्थापक अध्यक्ष भागवत प्रवक्ता कथावाचक अनिल शास्त्री ने कहा कि संसार में भगवान कृष्ण ही सृष्टि का सृजन, पालन और संहार करते हैं। भगवान के चरणों में जितना समय बीत जाए उतना अच्छा है। इस संसार में एक-एक पल बहुत कीमती है। जो बीत गया सो बीत गया। इसलिए जीवन को व्यर्थ में बर्बाद नहीं करना चाहिए। भगवान द्वारा प्रदान किए गए जीवन को भगवान के साथ और भगवान के सत्संग में ही व्यतीत करना चाहिए। कथावाचक अनिल शास्त्री ने कहा कि भागवत प्रश्न से प्रारंभ होती है और पहला ही प्रश्न है कि कलयुग के प्राणी का कल्याण कैसे होगा। इसमें सतयुग, त्रेता और द्वापर युग की चर्चा ही नहीं की गई है। ऐसे में यह प्रश्न उठता है कि बार-बार यही चर्चा क्यों की जाती है, अन्य किसी की क्यों नहीं। इसके कई कारण हैं जैसे अल्प आयु, भाग्यहीन और रोगी। इसलिए इस संसार में जो भगवान का भजन न कर सके, वह सबसे बड़ा भाग्यहीन है। भगवान इस धरती पर बार-बार इसलिए आते हैं ताकि हम कलयुग में उनकी कथाओं में आनंद ले सकें और कथाओं के माध्यम से अपना चित्त शुद्ध कर सकें। व्यक्ति इस संसार से केवल अपना कर्म लेकर जाता है। इसलिए अच्छे कर्म करो। भाग्य, भक्ति, वैराग्य और मुक्ति पाने के लिए भगवत की कथा सुनो! इस अवसर  पर यजमान सत्येंद्र सिंह मझियावा, संजय सोनी, राज कुमार, खुशबु , अंकित सिंह एवं पंडित सर्वेश तिवारी, पंडित रंगनाथ त्रिपाठी कुरुक्षेत्र, उदय सिंह, लालू दुबे, टुनटुन सिंह,पूर्व चेयरमैन राधा सिंह,त्रिपुरारी सिंह पार्षद कुसुम देवी, पार्षद ज्ञानती देवी, अरुण कारिवाल, रविन्द्र सिन्हा, मंटू कुमार, अप्पू तिवारी, गोबिन्द तिवारी, पार्वती कारिवल  सरिता देवी, सोनी देवी, पुष्पा देवी, अमृता सिंह, ज्योती पटवा उपस्तिथि रहें।

No comments:

Post a Comment