इंटर लाकिंग सलारपुर कटियारा मार्ग में ठेकेदार कर रहा घटिया सामग्री का प्रयोग - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

इंटर लाकिंग सलारपुर कटियारा मार्ग में ठेकेदार कर रहा घटिया सामग्री का प्रयोग

#DRS NEWS 24Live
   सीतापुर। रिपोर्ट राकेश पाण्डेय:जिले के हरगांव विकास खण्ड क्षेत्र के अन्तर्गत सांसद निधि से सम्पर्क मार्ग महाराजनगर से सलारपुर कटियारा पर लग रही इंटरलाकिंग में ठेकेदार जमकर घटिया सामग्री का प्रयोग कर रहा है।यह मार्ग प्रधानमंत्री की महात्वाकांक्षी योजना "गांवों को सम्पर्क मार्ग के द्वारा जिला मुख्यालय व तहसीलों को जनहित में सीधे जोडना" के अन्तर्गत बन रही है।
  प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के हरगांव विकास खण्ड क्षेत्र अन्तर्गत प्रधान मंत्री द्वारा चलाई जा रही महत्वाकांक्षी योजना " गांवों को संपर्क मार्ग के द्वारा जिला मुख्यालय व तहसील मुख्यालय से जनहित मे सीधे जोडना ।जिससे नागरिकों को अच्छी सुविधा मिल सके लेकिन कुछ आधुनिक ठेकेदारों के द्वारा बनवाए जा रही इंटरलॉकिंग मार्ग  जो महाराज नगर से सलारपुर कटियारा सम्पर्क मार्ग में जुड़ती है। में ठेकेदार के द्वारा घटिया सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। जो कुछ ही महीना में ध्वस्त हो जाने की कगार पर पहुंच सकती है।
   सूत्रों की माने तो यह सम्पर्क मार्ग सांसद निधि से बनाई जा रही है। इस इंटरलॉकिंग रोड पर घटिया सामग्री का उपयोग ठेकेदार के द्वारा किया जा रहा है। मार्ग के दोनों तरफ बनाई जा रही ईंटों की दीवारों में घटिया ईंट व शुद्ध बालू का प्रयोग किया जा रहा है। जिससे जरा सी ठोकर लगने से पूरी दीवार ध्वस्त हो रही है। इसी तरह से अगर कार्य कराया गया तो प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना की खुले आम धज्जियां उड़ जाएंगी।
  ग्रामीणों ने मांग की है कि  इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। पत्थर रोड की अगर बात करें तो उसमें भी घोटाला किया गया है। जिसका कोई माप तोल नहीं है। कितना पडा है कितना कहां पर पड़ना है।
     सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दीवार में हल्का सा भी पैर  लगाने पर सारी दीवार भर भर कर गिर जाती है। लेकिन इस दीवार तक ठेकेदार की नज़रें नहीं जा रही हैं। शायद बनती हुई रोड पर अवर अभियंता भी पहुंचे हो लेकिन उन्होंने भी इस मामले पर ध्यान नहीं दिया। ग्रामीणों का मानना है कि इस रोड की पहले निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। उसके बाद इस रोड पर कार्य होना चाहिए। अन्यथा रोड दो माह में ही दरक सकती है। फिर इस रोड का निर्माण करने से फायदा ही क्या है। अगर रोड दो-चार महीने भी ना चले। ऐसी रोड से ग्रामीणों को क्या लाभ मिल सकता है।
  ग्रामीणों ने यह भी बताया कि इस रोड में खुले आम ठेकेदार द्वारा मन मानी, लूट घसोट की जा रही है। अब निष्पक्ष जांच के बाद ही रोड का कार्य होना चाहिए। अन्यथा सरकार के आदेशों व ग्रामीणों को सरकार द्वारा दी जा रही सहूलियतों की धज्जियां कुछ आधुनिक ठेकेदारों द्वारा उड़ायी जाती ही रहेगी और सरकार की महत्वाकांक्षी योजना में पलीता लगाया ही जाता रहेगा। ऐसे में इन ठेकेदारों पर जांच कर उचित कार्रवाई की जाए।ग्रामीणों ने मांग की है कि इस रोड को बनवाने के भृष्टाचार में जो भी शामिल हो उस पर जांच के बाद उचित कार्रवाई अवश्य होनी चाहिए।
दैनिक राष्ट्रसाक्षी

No comments:

Post a Comment