फुले ने बालिकाओं को शिक्षित करने में निभाई अहम भूमिका - DRS NEWS24 LIVE

Breaking

Post Top Ad

फुले ने बालिकाओं को शिक्षित करने में निभाई अहम भूमिका

#DRS NEWS 24Live
  

लखनऊ :रिपोर्ट चंद्रजीत यादव:चंदन मार्केट मोहनलालगंज महाराष्ट्र के सतारा जिले के नयागांव में एक दलित परिवार में 3 जनवरी 1831 को जन्‍मी सावित्रीबाई फुले भारत की पहली महिला शिक्षिका थी। इनके पिता का नाम खन्दोजी नैवेसे और माता का नाम लक्ष्मी था। सावित्रीबाई फुले शिक्षक होने के साथ भारत के नारी मुक्ति आंदोलन की पहली नेता, समाज सुधारक और मराठी कवयित्री भी थी। इन्‍हें बालिकाओं को शिक्षित करने के लिए समाज का कड़ा विरोध झेलना पड़ा था। कई बार तो ऐसा भी हुआ जब इन्हें समाज के ठेकेदारों से पत्थर भी खाने पड़े।  उन्होंने अपने पति ज्योतिबा राव फुले के साथ मिलकर विभिन्न जातियों की छात्राओं को अपने साथ लेकर पुणे  महाराष्ट्र  में प्रथम विद्यालय की स्थापना की थी।  सावित्रीबाई फुले ने अपने जीवन को एक मिशन की तरह जिया जिसका उद्देश्य था छुआछूत मिटाना  विधवा महिलाओं का विवाह कराना,  महिलाओं को शिक्षित बनाना। उक्त उदगार  दिवाकर सिंह पूर्व प्रधानाचार्य राम बुझारत सिंह इंटरकॉलेज गैरवाह जौनपुर ने की चन्दन मार्केट उद्वत खेड़ा रोड, नई जेल रोड, नजदीकी सरस्वती पब्लिक स्कूल, पोस्ट ऑफिस मोहनलाल गंज , लखनऊ उत्तर प्रदेश में मदन फाउंडेशन द्वारा आयोजित व बाबू जगजीवन राम नेशनल फाउंडेशन, सामाजिक न्याय एवम अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार , नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम सावित्रीबाई फूले जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए  व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सावित्रीबाई फुले ने सभी बिरादरियों व सभी धर्मो के लिए काम किया।  सावित्रीबाई पूरे देश की महानायिका  हैं।  तथा उन्हें एक मराठी आदि  कवित्री के रूप में जाना जाता है।   उन्होंने  प्रथम विद्यालय की स्थापना 1848 में पुणे महाराष्ट्र में की।   संजय पांडे ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सावित्रीबाई फुले का उद्देश्य दलित महिलाओं को शिक्षित बनाना प्रमुख उद्देश्य था। उनके पति महात्मा ज्योतिबा राव फुले को महाराष्ट्र व भारत में सामाजिक सुधार आंदोलन में एक सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में माना जाता है।कार्यक्रम को  समीर मिश्र प्रसिद्ध कवि  अमेठी  द्वारा संबोधित किया गया कार्यक्रम के एक दिन पूर्व विद्यालय के छात्र-छात्राओं में सावित्रीबाई फुले के जीवन यात्रा पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। प्रतियोगिता में  प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्राओं को नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।   इस अवसर पर कार्यक्रम का शुभारंभ सावित्रीबाई फुले के चित्र पर मुख्य अतिथि के द्वारा पुष्प अर्पित करके किया गया।  इस अवसर पर तमाम गण्मान्य  अतिथियों के अलावा विद्यालय की छात्र -छात्राओं ने कार्यक्रम में भाग लिया।  इस अवसर पर काव्य गोष्ठी का भी आयोजन किया गया।   कार्यक्रम की  अध्यक्षता  पूनम ने  किया।  मदन फाउंडेशन  की तरफ से आए हुए अतिथियों को स्मृति चिन्ह एवम अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों ने एवं छात्र-छात्राओं ने कार्यक्रम के प्रयोजन हेतु बाबू जगजीवन राम नेशनल फाउंडेशन को धन्यवाद दिया।
डीआरएस  न्यूज़ नेटवर्क

No comments:

Post a Comment